बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान फॉर लॉन्ग टर्म

यदि आप अपनी बचत को डबल करना चाहते हैं; तो आप बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान फॉर लॉन्ग टर्म के बारे में अच्छे से समझें; यहाँ दिए गए सभी बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान बहुत ही कारगर हैं; जो आपकी फाइनेंशियल फ्रीडम हासिल करने में मदद करेंगी; चाहे आप अमीर हो या गरीब!

बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान फॉर लॉन्ग टर्म

कौन ऐसा है; जो नहीं चाहता कि उसकी मेहनत की कमाई सुरक्षित रहे; और दिन दुनी रात चौगुनी बढ़ती रहे? हर कोई चाहता है; चाहे वह अमीर हो या गरीब।

बस दिक्कत इस बात की है कि लोगों को निवेश से जुड़े प्लान के बारे में सही जानकारी नहीं है; वे जाने-अंजाने में ऐसी स्कीम या प्लान में निवेश कर देते हैं; जहांँ उनके निवेश पर वह रिटर्न नहीं मिल‌ पाता; जिसकी वे उम्मीद करते हैं।

लेकिन अब आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है; क्योंकि आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ ऐसे बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान‌ के‌ बारे में बताने जा रहे हैं; जो आपको लॉन्ग टर्म में अच्छा रिटर्न देने की संभावना रखता है; 

तो चलिए पोस्ट में आगे बढ़ते हैं; और जानते हैं कि वो बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान कौन से हैं; जहाँ आपकी मेहनत की कमाई सुरक्षित तो है; साथ ही आपको फाइनेंशियल फ्रीडम देने की क्षमता भी रखता है।

बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान फॉर लॉन्ग टर्म से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें:

  • निवेश से पहले अपने फाइनेंशियल लक्ष्यों को समझें – निवेश करने से पहले आपको यह अच्छे से पता होना चाहिए कि आप निवेश किसलिए कर रहे हैं? क्या आप अपने रिटायरमेंट के लिए पैसा बचाना चाहते हैं? क्या आप नया घर खरीदना चाहते हैं या फिर अपने बच्चों के एजुकेशन के लिए पैसा बचत करना चाहते हैं? 
  • निवेश करने से पहले आप अपने रिस्क लेने की क्षमता को पहचानें – आप हमेशा यह बात याद रखिएगा कि कोई भी निवेश बिना रिस्क के नहीं होता है; अगर आप कहीं निवेश कर रहे हैं; तो इसका मतलब यह है कि आप रिस्क ले रहे हैं; इसलिए आप निवेश करने से पहले अपने रिस्क लेने की क्षमता का अच्छे से पहचान करें; ताकि आप बड़े नुकसान से बच सकें।
  • अपने सारे पैसे एक ही कंपनी में कभी न लगाएं – यदि आप निवेश में होने वाले जोखिम से बचना चाहते हैं; तो आप अपने पैसे को एक जगह पर निवेश करने से बचें; अगर आपको निवेश करना है; तो आप अलग-अलग कंपनियों या एसेट्स में निवेश करें; क्योंकि ऐसा करने से आपको यह लाभ होता है कि अगर एक कंपनी बैठ गई तो दुसरी कंपनी आपके नुकसान की भरपाई कर देगी; मतलब आपके निवेश में होने वाला जोखिम कम हो जाएगा; और लॉन्ग टर्म में अच्छा रिटर्न मिलने की संभावना बढ़ जाएगी।

चलिए बेहतरीन इन्वेस्टमेंट प्लान पर एक नज़र डालते हैं:

  • म्यूचुअल फंड्स: अगर आप निवेश में कम जोखिम लेना चाहते हैं; और एक साथ कई कंपनियों और एसेट्स में निवेश करना चाहते हैं; तो आपके लिए म्यूचुअल फंड में निवेश करना एक अच्छा विकल्प हो सकता है; आप याद रखें; इक्विटी म्यूचुअल फंड हाई रिस्क के साथ हाई रिटर्न देने की संभावना रखता है; जबकि डेट म्यूचुअल फंड में जोखिम कम होता है; लेकिन रिटर्न भी कम मिलता है; यदि आप दोनों फंडों में निवेश का लाभ उठाना चाहते हैं; तो इसके लिए आप हाइब्रिड फंड में निवेश करने का निर्णय ले सकते हैं।
  • पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF): यदि आप निवेश में बहुत ज्यादा सुरक्षा चाहते हैं; तो आप गवर्नमेंट स्कीम के साथ जा‌ सकते हैं; मेरे कहने का‌ मतलब यह है कि आप अपनी मेहनत की कमाई को पब्लिक प्रोविडेंट फंड में निवेश कर सकते हैं; यहाँ आपको बिना अधिक जोखिम के 7.1% का सालाना ब्याज दर मिलेगा; यह लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट प्लान आपके लिए निवेश का एक अच्छा विकल्प हो सकता है।
  • नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS): यदि आप सरकारी या प्राइवेट जॉब करते हैं; और आपको हर महीने सैलरी मिलती है; और आप उस सैलरी में से कुछ पैसे बचत के तौर पर निवेश करना चाहते हैं; तो आपके लिए नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) एक अच्छा विकल्प हो सकता है; यहाँ आपको आपके रिटायरमेंट के बाद हर महीने सैलरी मिलती है; मतलब रिटायरमेंट के बाद भी आपको किसी तरह की फाइनेंशियल प्रॉब्लम नहीं होती है; और यही नहीं आप अपने निवेश को इक्विटी, कॉरपोरेट बॉन्ड और सरकारी बॉन्ड में निवेश करके अपनी बचत को और बढ़ा सकते हैं।

यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान‌ (ULIP): यह एक बीमा और निवेश आधारित बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान है; यहां निवेश करने पर आपको एक फायदा मिलता है;

जैसे – लाइफ इंश्योरेंस कवरेज के साथ-साथ आपके पैसे को मार्केट में निवेश किया जाता है; लेकिन वहीं दूसरी तरफ इसमें निवेश करने के नुकसान भी हैं; इस यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान‌ में निवेश करना सरल नहीं होता है; साथ ही इसमें बहुत ज्यादा चार्ज लग जाता है।

निवेश करने से पहले रिस्क लेने की क्षमता को कैसे पहचानें?

यदि आप निवेश करने से पहले रिस्क लेने की क्षमता को पहचानना चाहते हैं; तो इसके लिए आपको करना यह है कि आपके पास निवेश करने के लिए कितना पैसा है; और आप उस पैसे में से कितना पैसा खोने के लिए तैयार हैं; यह सबकुछ आपको अपने फाइनेंशियल लक्ष्यों, खर्चों और भावनाओं के आधार पर तय करते हैं।

निवेश की शुरूआत करने के लिए कितनी पूंजी की जरूरत होती है?

अगर आप निवेश करने का निर्णय ले चुके हैं; पर आप यह नहीं समझ पा रहे हैं कि निवेश करने के लिए आपको कितना पैसा चाहिए; तो आप मेरी सुनिए; आपको निवेश करने के बहुत ज्यादा पैसों की जरूरत नहीं होती है; आप सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के माध्यम से हर महीने अपनी इच्छा के अनुसार सौ रुपए, पांच सौ रुपए या उससे ज्यादा निवेश कर सकते हैं।

लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट के लिए एक फाइनेंशियल एडवाइजर से सलाह लेना क्यों जरूरी है?

यदि आप इन्वेस्टमेंट के क्षेत्र में नए हैं; और आप यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि आपको निवेश कहां और किस प्लान में करना चाहिए; तो आप इस स्थिति में किसी अच्छे अनुभवी फाइनेंशियल एडवाइजर की सलाह लेना बहुत फायदेमंद रहता है; क्योंकि उन्हें मार्केट की अच्छी जानकारी होती है; और वे आपको मार्केट के बारे में सटीक जानकारी दे सकते हैं; और उनके बताए गए प्लान में निवेश करने पर आपको ज्यादा जोखिम नहीं लेना पड़ता है।

Leave a Comment