भारत की सबसे बड़ी म्यूचुअल फंड संस्था कौन सी है ?

आज इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे कि भारत की सबसे बड़ी म्यूचुअल फंड संस्था कौन सी है ? ( bharat ki sabse badi mutual fund sanstha ) और इसके साथ ही आप यह भी जानेंगे कि म्युचुअल फंड में निवेश करने के लिए सबसे अच्छा रणनीति क्या है?

भारत की सबसे बड़ी म्यूचुअल फंड संस्था कौन सी है ?

भारत की सबसे बड़ी Mutual fund संस्था यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया (UTI) है; इस संस्था की स्थापना 1963 में किया गया था और आज यह भारत की पहली Mutual fund कंपनी है;

UTI के पास मार्च 2023 तक 4.2 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति का मैनेजमेंट था; और यह भारत में Mutual fund उद्योग के कुल मैनेजमेंट का 17% है.

UTI के अलावा भारत की सबसे बड़ी म्यूचुअल फंड संस्था कौन सी है; चलिए‌ जानते हैं

Important Points

UTI के अलावा, भारत में अन्य प्रमुख Mutual fund संस्थाओं में शामिल हैं:

ये सभी Mutual fund संस्थाएं भारत में लाखों इंवेस्टर्स के लिए निवेश के अवसर प्रदान करती हैं.

म्युचुअल फंड में निवेश करने के लिए सबसे अच्छा स्ट्रैटजी क्या है?

Mutual fund में निवेश करने के लिए सबसे अच्छी स्ट्रैटजी वह है जो आपके पर्सनल लक्ष्यों, रिस्क लेने की सहनशीलता और फाइनेंशियल कंडिशन के अनुसार हो।

आज इस पोस्ट में मैं उन खास स्ट्रेटेजी के बारे में चर्चा करुँगा; जो कई निवेशकों के लिए काम करती हैं; और आपके लिए भी करेंगी; तो चलिए एक-एक कर सभी स्ट्रेटेजी के बारे में अच्छे से जान लेते हैं –

पहला स्ट्रैटजी – अपने लक्ष्यों और रिस्क लेने की क्षमता को पहचानें।

निवेश करने से पहले, आपको यह समझना जरुरी है कि आपका Mutual fund में निवेश करने का लक्ष्य क्या है; क्या आप अपने भविष्य को आर्थिक सुरक्षा देना चाहते हैं; एक खास लक्ष्य को प्राप्त करना चाहते हैं, या बस अपने इंवेस्टमेंट को बढ़ाना चाहते हैं? 

एक बार जब आप अपने निवेश करने के लक्ष्यों को पहचान लेते हैं; तो आप अपने रिस्क लेने की क्षमता का आकलन कर सकते हैं। 

अगर आप बाजार में उतार-चढ़ाव को संभालने के लिए तैयार हैं; तो आप ज्यादा रिस्क वाले फंडों में निवेश करके अच्छा-खासा रिटर्न पा सकते हैं।

दूसरा स्ट्रैटजीअपने पोर्टफोलियो में अलग-अलग निवेश को जगह दिजिए।

एक ही फंड में अपने सारे पैसे निवेश कर देना जोखिम भरा हो सकता है; इसलिए आप अपने पोर्टफोलियो में अलग-अलग निवेश को जगह दें; ऐसा करके आप बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव के प्रभाव को कम कर सकते हैं।

मेरी मानिए – आपको अलग-अलग एसेट्स‌ मे निवेश करना चाहिए; जैसे कि इक्विटी, डेट और कमोडिटीज में निवेश करने के बारे में सोचना चाहिए; और इसके साथ ही आप अलग-अलग फंड मैनेजरों से सहायता लेकर अपने पोर्टफोलियो को बहुत ज्यादा अच्छा बना सकते हैं।

तीसरा स्ट्रैटजी – लॉन्ग टर्म इंवेस्टमेंट को महत्व दें।

म्युचुअल फंड में निवेश करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप लंबे समय के लिए निवेश करिए; और इस बात को याद रखिए कि बाजार में उतार-चढ़ाव होना एक आम बात है; लेकिन समय बढ़ने के साथ इक्विटी में किया गया निवेश अच्छा रिटर्न देता है; 

अगर आप अपने निवेश को कम समय में बढ़ाना चाहते हैं, तो आपको‌ ज्यादा रिस्क वाले फंडों में निवेश करना पड़ेगा।

चौथा स्ट्रेटेजीसिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान को अपनाएं।

यदि आप अपने निवेश को बढ़ाना चाहते हैं; तो आपके लिए सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान मतलब एसआईपी एक बेस्ट तरीका है; एसआईपी में आप एक निश्चित रकम को नियमित रूप से‌ मतलब हर महीने निवेश करते हैं; जिससे आपको बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव से कोई ज्यादा फर्क नहीं पड़ता है। 

पांचवा स्ट्रेटेजी – अपने किए गए निवेश पर नज़र बनाए रखें।

आप याद रखिएगा – अपने किए गए निवेश पर नज़र रखना महत्वपूर्ण है; ताकि आप यह सुनिश्चित कर सकें कि वे आपके लक्ष्यों के अनुरूप चल रहे हैं या नहीं।

समय के साथ आपको अपने पोर्टफोलियो को एडजस्ट करने की आवश्यकता हो सकती है; जैसे कि आपके रिस्क लेने की सहनशीलता या फाइनेंशियल कंडिशन में बदलाव।

यहां कुछ खास म्युचुअल फंड स्ट्रेटेजी के बारे में बताई जा रही हैं जो आपके लिए काम कर सकती हैं; तो चलिए एक-एक इन खास स्ट्रेटेजी के बारे में जानते हैं –

  • बाइ एंड होल्ड स्ट्रेटेजी – यह एक बहुत सरल स्ट्रेटेजी है जिसमें आप अपने पसंदीदा फंडों में निवेश करते हैं और फिर इसे लंबे समय के लिए होल्ड करके रखते हैं।
  • टाइम मार्केटिंग स्ट्रेटेजी – यह स्ट्रेटेजी आपको यह सीखाती है कि आप मार्केट में होने वाले उतार-चढ़ाव को प्रॉफिट में बदल सकते हैं; बशर्ते आप सही समय पर खरीदते और बेचते हैं तो। आप याद रखिएगा – यह एक चुनौतीपूर्ण स्ट्रेटेजी है; इसलिए ज्यादातर निवेशकों को इसमें निवेश करने के लिए नहीं कहा जाता है।
  • दैनिक लेनदेन स्ट्रेटेजी – यह स्ट्रेटेजी आपको बताती है कि यदि आप लगातार स्टॉक खरीदते और बेचते हैं; तो आप बाजार के उतार-चढ़ाव का लाभ उठा सकते हैं; हालांकि, यह एक जोखिम भरा स्ट्रेटेजी है; इसलिए अधिकांश निवेशकों इसमें निवेश करने का राय नहीं दिया जाता है।

यदि आप म्युचुअल फंड में निवेश करने के लिए सबसे अच्छी स्ट्रेटेजी चुनाव करना चाहते हैं; तो आपके लिए अपने वित्तीय सलाहकार से बात करना हमेशा सबसे अच्छा होगा।

इसे भी पढ़ें : वारेन बफेट के विचार पढ़ो, और एक सफल निवेशक बनो

भारत की सबसे बड़ी म्यूचुएल फंड संस्था कौन सी है?

प्रेजेंट टाइम में भारत की सबसे बड़ी म्यूचुअल फंड संस्था “यूनिट ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (UTI)” है; इस संस्था की कुल “AUM (संपत्ति प्रबंधन)” 1,52,000 करोड़ रुपये से ज्यादा है।

यूनिट ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (UTI) कितना पुराना है?

यूनिट ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (UTI) की स्थापना 1963 में किया गया; इसलिए इसे भारत में इकलौता सबसे पुराने म्यूचुअल फंडों में से एक माना जाता है।

क्या यूनिट ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (UTI) केवल बड़े निवेशकों के लिए ही है?

ऐसा नहीं है! यूनिट ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया कई तरह के रिस्क लेने की सहनशीलता और निवेश लक्ष्यों के लिए विभिन्न योजनाएं देता है; आप इसमें अपने बजट और फाइनेंशियल लक्ष्यों के अनुसार कम पूंजी के साथ भी निवेश की शुरूआत कर सकते हैं।

Leave a Comment