इंट्राडे ट्रेडिंग नियम क्या है ? Intraday Trading Rules In Hindi

आज इस पोस्ट‌ में हम जानेंगे कि इंट्राडे ट्रेडिंग नियम (Intraday trading rules) क्या है ? यदि आप इंट्रा डे ट्रेडिंग करके अच्छा प्रॉफिट कमाना चाहते‌ हैं; तो आपको यहाँ बताए जा रहे इंट्राडे ट्रेडिंग नियम (Intraday trading rules) को ध्यान से समझना होगा;

और फिर इस नियम के आधार पर आपको ट्रेडिंग करनी होगी; तो चलिए‌ पोस्ट में‌ आगे बढ़ते हैं; और जानते‌ हैं‌ कि इंट्राडे ट्रेडिंग नियम क्या हैं?

इंट्राडे ट्रेडिंग नियम क्या है - Intraday Trading Rules In Hindi

इंट्राडे ट्रेडिंग (Intraday Trading) को डे‌ ट्रेडिंग के नाम से भी जाना जाता है; इस ट्रेडिंग की खासियत यह है कि आपको शेयर मार्केट से प्रॉफिट कमाने के लिए ज्यादा‌ लंबा इंतज़ार नहीं करना पड़ता है;

क्योंकि इस ट्रेडिंग में एक ही दिन के अंदर मतलब सुबह 9:15 से शाम 3:30 बजे के बीच में आपको शेयरों की खरीद और बिक्री करनी होती है।

इंट्राडे ट्रेडिंग शेयर मार्केट से पैसा बनाने का एक जोखिम भरा तरीका है, लेकिन वहीं अनुभवी ट्रेडर्स इंट्राडे ट्रेडिंग करके अच्छा प्रॉफिट बना लेते हैं; जबकि शुरुआती लोगों के लिए इंट्रा डे ट्रेडिंग शुरू करना मुश्किल हो सकता है; लेकिन नामुमकिन नहीं;

आप इस पोस्ट में बताए गए इंट्राडे ट्रेडिंग नियम (Intraday Trading Rules) को फॉलो करके, आप अपने जोखिम को कम कर सकते हैं और सफलता की संभावना को बढ़ा सकते हैं।

शुरुआती लोगों के लिए इंट्राडे ट्रेडिंग नियम (Intraday Trading Rules) दिए जा रहे हैं:

  1. आप एक जबरदस्त ट्रेडिंग योजना विकसित करें – मेरे‌ कहने का मतलब यह है कि इंट्राडे ट्रेडिंग शुरू करने से पहले आपको यह तय करना‌ होगा कि आप किन शेयरों में ट्रेड करना चाहते हैं, और आप कितना जोखिम लेने के लिए तैयार हैं, और इसके साथ ही‌ आपको अपना टार्गेट भी सेट करना होगा कि आपको कब एंट्री करना है और कब निकलना है।
  2. निवेश करने से पहले अच्छी तरह से रिसर्च करें – आप याद रखिएगा कि किसी भी स्टॉक में ट्रेड करने से पहले, उस स्टॉक के बारे में जितना हो सके उतना रिसर्च कर लेना बहुत जरूरी होता है; इसके लिए आपको फंडामेंटल एनालिसिस और टेक्निकल एनालिसिस दोनों का सहारा लेना चाहिए।
  3. अपने जोखिम को जितना हो सके उतना कम करें – ट्रेडिंग करते समय आप स्टॉप-लॉस ऑर्डर का उपयोग करके अपने जोखिम को सीमित कर सकते हैं; इसको कुछ इस तरह से समझें – स्टॉप-लॉस ऑर्डर आपको पहले‌ से निर्धारित प्राइस पर अपने ट्रेड को आटोमेटिक तरीके से बंद करने की अनुमति देता है, जिससे आप बड़े नुकसान से बच जाते हैं।
  4. ट्रेडिंग के दौरान अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखें – इंट्राडे ट्रेडिंग करते समय आपकी भावनाएं आपकी ट्रेडिंग स्ट्रैटजी को बहुत ज्यादा प्रभावित कर‌ सकती हैं; इसलिए आप अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखकर ही ट्रेडिंग करें, ताकि आप अपने ट्रेडिंग निर्णयों को बेहतर ढंग से लेने में सक्षम हो‌ सकें।

इंट्राडे ट्रेडिंग के जोखिम क्या हैं?

जैसा कि हमने आपको पहले ही बता दिया कि इंट्राडे ट्रेडिंग एक तरह की डे ट्रेडिंग है; जिसमें आपको एक ही दिन के अंदर शेयरों को खरीदना और बेचना होता है।

अगर आप इंट्रा डे ट्रेडिंग करके अच्छा प्रॉफिट कमाना‌ चाहते हैं; तो आपको इंट्राडे ट्रेडिंग नियम (Intraday trading rules) के साथ-साथ इंट्राडे ट्रेडिंग के जोखिमों को भी अच्छे से समझना होगा;

तो चलिए पोस्ट में आगे बढ़ते हैं; और जानते हैं कि इंट्राडे ट्रेडिंग के जोखिम क्या-क्या हैं?

इंट्राडे ट्रेडिंग के जोखिमों में शामिल हैं:

  1. शेयरों की कीमतों में अस्थिरता: याद रखें; शेयरों की कीमतों में उतार-चढ़ाव हो सकता हैं, जिसकी वजह से आपका पूरा पैसा डूब सकता है; इसलिए आप ट्रेडिंग‌ करते समय स्टॉप-लॉस का इस्तेमाल जरूर करें।
  2. मार्केट फ्रॉड: आप याद रखें; इंट्राडे ट्रेडिंग में मार्केट फ्रॉड का खतरा ज्यादा होता है; इसका मतलब यह है कि धोखेबाज लोग आपको गलत जानकारी देकर आपको बड़ा नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  3. भावनाएं: आप इस बात को याद रखिएगा कि इंट्राडे ट्रेडिंग में आपकी खुद की भावनाएं आपकी ट्रेडिंग को बहुत ज्यादा प्रभावित करती हैं; अगर आप ट्रेडिंग करते समय अपनी भावनाओं पर नियंत्रण न रखें; तो आप गलत निर्णय लेने से बच नहीं सकते हैं।

इंट्राडे ट्रेडिंग शुरू करने से पहले, इन जोखिमों को समझना बहुत ज्यादा जरूरी है; आप इन जोखिमों को कम करने के लिए कुछ कदम उठा सकते हैं, जैसे कि:

  • स्टॉप-लॉस ऑर्डर का उपयोग करें: स्टॉप-लॉस ऑर्डर एक पूर्व-निर्धारित प्राइस पर अपने ट्रेड को आटोमेटिक तरीके से बंद करने का एक जबरदस्त तरीका है, जो आपको बड़ा नुकसान होने से बचा लेता है।
  • अच्छी तरह से रिसर्च करें: किसी भी स्टॉक में ट्रेड करने से पहले, उस स्टॉक के बारे में जितना आप रिसर्च कर सकते हैं; उतना रिसर्च करें; क्योंकि‌ सही रिसर्च से ही कामयाबी मिलती है।
  • अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखें: इंट्राडे ट्रेडिंग में आपकी भावनाएं एक बड़ी भूमिका निभाती हैं; आप अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखकर, आप अपने ट्रेडिंग निर्णय को सही तरीके‌ से ले सकते हैं।

इंट्राडे ट्रेडिंग करना एक मुश्किल भरा काम है; और इसमें सफल होने के लिए समय और प्रयास दोनों की जरूरत होती है; यदि आप इंट्राडे ट्रेडिंग में सफल होना चाहते हैं,

तो आपको इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम के साथ-साथ इन जोखिमों को समझना और इन्हें कम करने के लिए इंट्राडे ट्रेडिंग नियम को फॉलो करना चाहिए।

इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे सीखें?

इंट्राडे ट्रेडिंग सीखने के एक नहीं कई तरीके हैं; आप ऑनलाइन कोर्स ज्वाइन कर सकते हैं; या ट्रेडिंग से संबंधित अच्छी किताबें और ब्लॉग पढ़ सकते हैं;

या एक अच्छे ट्रेडिंग कोच से सलाह ले सकते हैं, या अन्य अनुभवी ट्रेडर्स से इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में सीख सकते हैं।

इंट्राडे ट्रेडिंग सीखने के लिए कुछ सुझाव दिए गए हैं:

  • खुद रिसर्च करें: इंट्राडे ट्रेडिंग शुरू करने से पहले, आपको शेयर मार्केट से जुड़ी मूल बातें समझने की जरूरत है; इसके लिए आप किताबें, ब्लॉग, और ऑनलाइन कोर्स का सहारा ले सकते हैं।
  • एक अलग ट्रेडिंग स्ट्रैटजी विकसित करें: आप याद रखिएगा कि एक अच्छी ट्रेडिंग स्ट्रैटजी आपको यह तय करने में मदद करता है कि आप किस तरह के स्टॉक में ट्रेड करना चाहते हैं; और आप इसके लिए कितना जोखिम लेने की क्षमता रखते हैं; और आपको किस प्वाइंट पर प्रवेश करना है और किस प्वाइंट पर बाहर निकलना है।
  • ट्रेडिंग अकाउंट खोलें: जब आप ट्रेडिंग अकाउंट खोल लेते हैं; तो इससे आपको वास्तविक बाजार (Live Market) में अभ्यास करने की अनुमति मिल जाती है।
  • अपने जोखिम को मैनेज करें: स्टॉप-लॉस ऑर्डर का इस्तेमाल करके आप अपने जोखिम को सीमित कर सकते हैं; स्टॉप-लॉस ऑर्डर पहले से तय की गई प्राइस पर आपके ट्रेड को आटोमेटिक तरीके से बंद करने का एक अनोखा तरीका है; आप इस तरीके को अपनाकर बड़े नुकसान से बच सकते हैं।
  • अपने इमोशन्स पर नियंत्रण रखें: इंट्राडे ट्रेडिंग करते समय आपके इमोशन्स आपकी ट्रेडिंग सफलता के रास्ते में एक रोड़ा बन सकता है; इसलिए आप अपने इमोशन्स पर नियंत्रण रखें; ताकि आप बेहतर ढंग से ट्रेडिंग निर्णय ले सकें।

यहां कुछ अतिरिक्त सुझाव दिए गए हैं जो आपको इंट्राडे ट्रेडिंग में सफल होने में मदद कर सकते हैं:

  • इंट्राडे ट्रेडिंग स्किल को विकसित करने के लिए आप एक डेमो अकाउंट का उपयोग करें: डेमो अकाउंट की मदद से आप वास्तविक बाजार में बिना एक रुपए लगाए इंट्राडे ट्रेडिंग स्किल से जुड़ी मूल बातें सीख सकते हैं। 
  • अनुभवी इंट्राडे ट्रेडर्स से सीखें: आप याद रखिएगा कि एक अनुभवी ट्रेडर से सीखने से आपको अपने स्किल को विकसित करने में मदद मिलती है।
  • अपने रिसर्च को लगातार अपडेट रखें: शेयर मार्केट लगातार बदल रहा है, इसलिए आपके लिए यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने रिसर्च को हमेशा अपडेट रखें।
  • एक अच्छे ट्रेडिंग ग्रुप को ज्वाइन करे: जब आप एक ट्रेडिंग ग्रुप में शामिल होते हैं; तो आपको अन्य अनुभवी ट्रेडर्स से सीखने और सपोर्ट प्राप्त करने में मदद मिलती है।

इंट्राडे ट्रेडिंग में सफल होने के लिए क्या चाहिए?

आप याद रखिएगा कि इंट्राडे ट्रेडिंग आपके लिए एक चुनौतीपूर्ण लेकिन फायदेमंद करियर हो सकता है; यदि आप इंट्राडे ट्रेडिंग में सफलता हासिल करना चाहते हैं, तो आपको समय, प्रयास, और धैर्य की‌ जरूरत पड़ेगी।

इंट्राडे ट्रेडिंग में सफल होने के लिए आपको निम्नलिखित चीजों की जरूरत होगी:

  1. एक मजबूत ट्रेडिंग योजना: याद रखें; एक अच्छी ट्रेडिंग योजना आपकी यह तय करने में मदद करती है कि आप किस तरह के स्टॉक्स में ट्रेड करना चाहते हैं; और आप इसके लिए कितना जोखिम लेने की क्षमता रखते हैं, और आपको किस प्वाइंट पर शेयर खरीदना है और किस प्वाइंट पर बाहर निकलना है।
  2. बेस्ट रिसर्च स्किल: ट्रेडिंग में सफल होने के लिए आपको शेयर मार्केट से जुड़ी मूल बातों को समझने की जरूरत पड़ती है; और आपको उन शेयरों की पहचान करने में सक्षम होना पड़ेगा; जिनमें ट्रेड करने की संभावना ज्यादा है।
  3. रिस्क मैनेजमेंट स्किल: नुकसान से बचने के लिए आपको अपने जोखिम को सीमित करना होगा; मतलब आपको स्टॉप-लॉस ऑर्डर का इस्तेमाल करना सीखना होगा।
  4. संयम और धैर्य: इंट्राडे ट्रेडिंग में सफल होने के लिए सबसे महत्वपूर्ण सुझाव यह है कि ट्रेडिंग करते समय आपको अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखना सीखना होगा और आपको केवल उन मौकों पर ट्रेड करना होगा; जब आपके पास एक अच्छा मौका हो।

एक बार फिर मैं आपको याद दिलाना चाहूंगा कि इंट्राडे ट्रेडिंग एक चुनौतीपूर्ण लेकिन फायदेमंद करियर हो सकता है;

इसलिए अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग में सफल होना चाहते हैं, तो आपको समय, प्रयास, और धैर्य की जरूरत पड़ेगी तो पड़ेगी; इसमें कोई दो राह नहीं है।

इसे भी पढ़ें : शेयर मार्केट की प्रमुख घटनाएं क्या हैं?

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा समय क्या है?

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा समय सुबह 9:15 से 10:15 और दोपहर 1:15 से 3:15 तक का समय होता है; लेकिन आप अपने व्यक्तिगत ट्रेडिंग‌ स्ट्रैटजी के आधार पर अन्य समय में भी ट्रेड कर सकते हैं।

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा स्टॉक कौन सा है?

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा स्टॉक वह होता है; जो हाई लिक्विडिटी वाला हो और जिसमें पर्याप्त गति हो। आप उन स्टॉक पर भी विचार कर सकते हैं; जो मजबूत टेक्निकल सिग्नल को दिखा रहे हैं या जिनके आसपास महत्वपूर्ण न्यूज़ घटनाएं सुनने को मिल रही हों।

इंट्राडे ट्रेडिंग में कितने पैसे कमाए जा सकते हैं?

इंट्राडे ट्रेडिंग में कितना पैसा कमाया जा सकता है, यह आपके ट्रेडिंग करने के स्किल, अनुभव और जोखिम लेने की क्षमता पर डिपेंड करता है। 
आप याद रखिएगा – अनुभवी ट्रेडर्स हर दिन हजारों रुपये कमा सकते हैं; लेकिन शुरुआती लोगों को अक्सर छोटे प्रॉफिट से ही संतुष्ट होना पड़ता है।

Leave a Comment