इंट्राडे में शेयर खरीदने का सही समय क्या है?

आज इस पोस्ट में, हम चर्चा करेंगे कि इंट्राडे में शेयर खरीदने का सही समय क्या है? इस पोस्ट में हम सप्ताह के दिनों, समय सीमा और अन्य कारकों पर विस्तार से बात करेंगे; 

बस आपको करना यह है कि आपको इन बातों पर पूरा ध्यान देना है; क्योंकि शेयर मार्केट में शेयर खरीदने के लिए इन बातों को जानना बहुत जरूरी हैं;

तो चलिए पोस्ट में आगे बढ़ते हैं; और जानते हैं कि इंट्राडे में शेयर खरीदने का सही समय क्या है?

इंट्राडे में शेयर खरीदने का सही समय क्या है?

अगर आप एक नए निवेशक हैं; तो आपको समय की कीमत का पता नहीं चलता है; बस आपके मन में यह रहता है कि मुझे ट्रेडिंग करना है; बस ट्रेडिंग करना है; 

शायद आपको नहीं पता कि शेयर मार्केट में समय की कीमत समझने वाले ही पैसे बनाते हैं; मतलब यहां इस मार्केट में समय ही पैसा है; 

इसलिए अगर आप समय के साथ चलना सीख गए तो आपको सही समय पर सही शेयर खरीदने से कोई रोक नहीं सकता।

अगर आप गलत समय पर गलत दांव लगा दिए; मेरे कहने का मतलब यह है कि यदि आप गलत समय पर गलत शेयर खरीद लिए; तो आप यह मान कर चलिए कि आपके पैसे को डूबने से कोई रोक भी नहीं सकता।

अब आपको चिंता करने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है; क्योंकि आज इस पोस्ट में, मैं आपकी इस समस्या को दूर कर दूंगा; आपको अच्छे से समझ में आ जाएगा कि कब आपको शेयर खरीदना है; और कब नहीं!

शेयर खरीदने का सही समय (Share Kharidne Ka Sahi Samay) क्या है – 

यदि आपको शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करते हुए एक लंबा वक्त गुजर चुका है; और आपको शेयर मार्केट के बारे में अच्छी जानकारी भी हो चुकी है;

बस आपके साथ समस्या यह है कि आपको यह समझ में नहीं आता है कि शेयर खरीदने का सही समय क्या है? तो चलिए आपकी इस समस्या को हमेशा के लिए खत्म कर देते हैं।

सुबह का समय, कमाई का बेहतरीन मौका देता है; चलिए जानते हैं, कैसे:

  • सुबह 9:30 से 10:30 बजे तक का समय: आप याद रखिएगा; इस समय बाजार मतलब शेयर मार्केट खुलते ही बहुत ज्यादा तेजी या गिरावट देखने को मिलता है; यह सब देश में चल रहे नए उथल-पुथल‌ और ग्लोबल न्यूज़ रिएक्शन की वजह से होता है; आप याद रखें; यही वह समय है; जिसमें ज्यादा फायदा और ज्यादा नुकसान होने की संभावना रहती है।
  • लेकिन यहां सावधानी रखना भी बहुत जरूरी है: अगर आप शेयर मार्केट में नए हैं; तो सुबह 9:30 से 10:30 बजे तक का समय आपके लिए ‌बिल्कुल भी काम नहीं करेगा; अगर आप जोर जबरदस्ती करके शेयर खरीद लेते हैं; तो आपको ‌नुकसान‌ होना 100% तय है; इसलिए मेरी मानिए आप धीरे-धीरे चलिए; जल्दबाजी करने से बचें; बाजार को अच्छे से समझें; अगर हो सके तो‌ शेयर मार्केट के अनुभवी‌ लोगों से जितना हो सके, उतना सीखें; और एक सफल ट्रेडर या निवेशक बनें।

दोपहर का समय; मतलब उतार-चढ़ाव का समय शुरू हो चुका है:

  • दोपहर 11:30 AM से 1:30 PM तक का समय: इस समय शेयर मार्केट थोड़ा आराम करता है; लेकिन मार्केट में उतार-चढ़ाव जारी रहता है; इस समय शेयर खरीदने से पहले आपको टेक्निकल एनालिसिस, चार्ट पैटर्न को समझना को समझना होता है; और इसके आधार पर आपको यह तय करना होता कि आपको शेयर खरीदना है या नहीं।
  • जोखिम से बचने का तरीका: अगर आप शेयर मार्केट में जोखिम से बचना चाहते हैं; आपको कम अस्थिरता वाले शेयरों का चुनाव करना होगा; इससे आपको नुकसान कम होगा और सीखने का मौका ज्यादा मिलेगा।

शाम का समय, मतलब शेयर मार्केट में फैसला लेने का समय आ गया है:

  • शाम 3:00 PM से 3:20 PM तक का समय: इस समय बाजार बंद होने की तैयारी में जुट जाता है; यही वह समय है; जब बाजार में बड़े ऑर्डर और न्यूज़ का अंतिम प्रभाव देखने को मिलता है।
  • इस समय थोड़ा संभल कर चलें – याद रखें बाजार बंद होने के समय आप ज्यादा शेयर या लॉट से ट्रेड न करें; आप अपने पोजीशन कम रखें, नुकसान से बचें; और बाजार के बारे में आपने जो कुछ भी सीखा; उसे अगले दिन के लिए तैयार रखें.

इंट्राडे में शेयर खरीदने के समय को जानने से ज्यादा महत्वपूर्ण बातें:

  • अच्छी स्ट्रैटेजी तैयार रखें: अगर आप शेयर मार्केट में बिना अच्छी तैयारी और स्ट्रैटजी के ट्रेडिंग करने का फैसला लेते हैं; तो आप जानबूझकर हारने की कोशिश में लगे हैं; आप याद रखें; शेयर मार्केट में सफलता हासिल करने के लिए आपको टेक्निकल एनालिसिस, रिस्क मैनेजमेंट को अच्छे से सीखना होगा; और इसके आधार पर आपको शेयर मार्केट में निवेश करना चाहिए।
  • फंडामेंटल एनालिसिस अच्छे से करें: शेयर मार्केट में निवेश या ट्रेडिंग करने से पहले आपको कंपनी के बारे में अच्छी तरह से रिसर्च कर लेनी चाहिए; आपको उस कंपनी से जुड़ी अच्छी-बुरी खबरों, फाइनेंशियल कंडीशन पर नजर रखनी होगी; ताकि आप ट्रेडिंग करने के सही निर्णय ले सकें।
  • अनुशासन ही बाज़ार में सफलता की कुंजी है: यदि आप शेयर मार्केट में निवेश या ट्रेडिंग करते समय अपने अपनी भावनाओं, जैसे – लालच और डर को कंट्रोल में नहीं रखते हैं; तो आपको प्रॉफिट कम नुकसान ज्यादा होगा; क्योंकि डर आपको सही ट्रेड से बाहर कर देगा; और लालच आपको गलत ट्रेड से जोड़कर रखेगा; या ज्यादा पाने की लालच में जो पर अपना नुकसान कर बैठेंगे।

आखिरी बात: आप याद रखें; इंट्राडे ट्रेडिंग में समय सिर्फ एक पहलू है; लेकिन ट्रेडिंग में असली सफलता आपको धैर्य, अनुशासन, और सूझबूझ से  मिलती है; इसलिए आप मेरी मानिए; आप लगातार सीखते रहें; अभ्यास करते रहें, 

और हाँ, बाजार के साथ कदम से कदम मिलाकर चलें; अगर आप इस पोस्ट को पढ़कर यह समझ गएं कि शेयर खरीदने का सही समय क्या है; तो आपको इंट्राडे में सफलता हासिल करने से कोई रोक नहीं सकता।

क्या वीकेंड में भी इंट्राडे ट्रेडिंग कर सकते हैं?

बिल्कुल नहीं; इंट्राडे ट्रेडिंग का रुल है; सुबह और दोपहर किसी भी समय खरीदो; लेकिन शाम 3:20 से पहले अपने खरीदें हुए शेयर बेचो।

इंट्राडे ट्रेडिंग शुरू करने के लिए कितना फंड रखें?

अगर आप शेयर मार्केट में नए हैं; तो आपको इंट्राडे ट्रेडिंग की शुरूआत बहुत ज्यादा पैसों से न करें; क्योंकि जितना ज्यादा पैसा लगेगा; आपको नुकसान भी उतना ही ज्यादा होगा; इसलिए आप थोड़े से पैसे लगाकर सीखें; अनुभव बढ़ाएं; और फिर ज्यादा पूंजी के साथ ट्रेडिंग करें; लेकिन संभल कर।

क्या इंट्राडे ट्रेडिंग करके पैसा कमाना आसान है?

अगर आसान नहीं है; तो यह मुश्किल भी नहीं है; आप अपनी मेहनत, समझदारी और अनुभव के आधार पर इंट्राडे ट्रेडिंग में सफल हो सकते हैं; आप हमेशा इस बात को याद रखिएगा कि सही समय पर सही निर्णय लेना ही ट्रेडिंग में सफलता की कुंजी है।

Leave a Comment